देश को बचाने का अंतिम प्रयास ‘जनसंख्या नियंत्रण कानून’


नई दिल्ली में राष्ट्र निर्माण संगठन द्वारा एक पत्रकारवार्ता का आयोजन किया गया जिसमे देशभर में निकाली जाने वाली भारत बचाओ महा रथयात्रा “हम दो, हमारे दो तो सबके दो”
के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया हमारे देश की खतरनाक रूप से बढ़ती असंतुलित जनसंख्या वृद्धि दर को रोकने के लिए एक कठोर और प्रभावशाली ‘जनसंख्या नियंत्रण कानून’ के निर्माण के उद्देश्य से सरकार एवं विपक्ष पर जनदबाव के लिए ‘राष्ट्रनिर्माण संगठन’ द्वारा 70 दिवसीय ‘भारत बचाओ महा रथयात्रा ‘ का आयोजन किया जा रहा है। नईदिल्ली स्थित प्रेस क्लब में आयोजित एक पत्रकारवार्ता सम्मेलन में यह जानकारी देते हुए संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ,समाजसेवी एवं वरिष्ठ पत्रकार सुरेश चव्हाणके ने कहा कि यह महा रथयात्रा 18 फरवरी को जम्मू से शुरू होकर देश भर के सभी प्रमुख राज्यों से गुजरती हुई 22 अप्रैल को नई दिल्ली में सम्पन्न होगी। यात्रा की आवश्यकता पर चर्चा करते हुए सुरेश चव्हाणके ने कहा कि जनसांख्यिक असंतुलन के कारण देश की एकता, अखंडता, सम्प्रभुता तथा लोगों की धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकारों पर गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है। देश में बहुसंख्यक हिंदू समाज की जनसंख्या तेजी से घटती जा रही है और देश का जनसांख्यिकीय अनुपात इस कदर बिगड़ गया है कि कई राज्यों में पूर्ण रूप से और कुछ राज्यों में क्षेत्रीयस्तर पर हिन्दू अल्पसंख्यक हो चुका है। सनद रहे किसन् 1947 में देश का बंटवारा धर्म के आधार पर ही हुआ था।

हालांकि करोड़ों लोगों की लाशें बिछा कर हुए विभाजन के बावजूद भारत धर्म निरपेक्ष ही बना रहा है। आज एक बार फिर वैसी ही चुनौती देश के सामने पैदा होती जा रही है जहाँ एक और विभाजन की आशंका प्रबल हो उठी है। जहाँ एकओर बहुसंख्यक हिंदू समाज परिवार कल्याण को अपना कर कम बच्चे पैदा कर सरकार की नीतियोंका अनुसरण कर रहा है, तो दूसरी ओर अल्पसंख्यक समाज में अनियंत्रित जन्मदरआदर्श जनसांख्यिकीय अनुपात के लिए गंभीर खतरा उत्पन्न कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *