मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में शामिल हुए धार जिले के प्रभारी मंत्री अंतर सिंह आर्य

मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में शामिल हुए धार जिले के प्रभारी मंत्री अंतरसिंह आर्य
धार जिले के प्रभारी एवं पषुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास एवं ग्रामोउद्यासेग व पर्यावरण विभाग मंत्री  अंतरसिंह आर्य ने रविवार को उदय रंजन क्लब मैदान में जिला प्रशासन के  द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजनान्तर्गत जिला स्तरीय किसान सम्मेलन का भगवान बलराम के चित्र पर माल्यार्पण एवं  दीप प्रज्जवलित कर विधिवत शुभारम्भ किया।
प्रभारी मंत्री श्री आर्य ने इस सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश  के मुख्यमंत्री शिवराज  सिंह चैहान किसानों के लिए हमेशा  चिंतन किया है। प्रदेश  में वर्ष 2003 में 2900 मेगावाॅंट बिजली उत्पादित  होती थी। अब प्रदेश  में बिजली उत्पादन के नये-नये कारखाने स्थापित किए गए, जिसका परिणाम है कि अब प्रदेश  में 18 हजार 364 मेगावाॅट बिजली का उत्पादन हो रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में 24 घन्टे बिजली उपलब्ध हो रही है। किसानों को सिंचाई के लिए 10 घन्टे बिजली प्रतिदिन आपूर्ति की जा रही है। सरकार कृषि को लाभकारी धन्धा बनाने के लिए वचनबद्ध है और किसानों की आय को दुगुनी करने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। किसानों की आय दुगुनी करने के लिए कृषि विभाग से जुड़े विभिन्न विभागों के माध्यम से किसान कल्याण के कार्य किए जावेगे। श्री आर्य ने कहा कि देश में मध्यप्रदेश एक ऐसा राज्य है, जिसे अनाज उत्पादन के मामले में लगातार पाॅचवी बार कृषि कर्मण अवार्ड मिला है, यह हम सबके लिए ख़ुशी   की बात है। प्रदेश में वर्ष 2003 में 7 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होती थी, अब सिंचाई के साधन उपलब्ध होने के कारण प्रदेश में 40 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो रही है। सरकार ने इसके लिए बढ़े-बढ़े बांध, तालाब व स्टापडेमों का निर्माण किया है। इसी का परिणाम है कि प्रदेश में बड़ी मात्रा में अनाज का उत्पादन हो रहा है। श्री आर्य ने आगे कहा कि पिछले साल गेहूॅं खरीदी पर 200 रूपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशी  किसानों के खातों में जमा की गई थी। धार जिले को 37 करोड़ रूपये मिले थे। सरकार द्वारा हर वर्ष किसी न किसी रूप में किसनों को मदद दी जा रही है। उन्होने कहा कि सरकार किसानों को सहकारी सोसायटियों के माध्यम से बिना ब्याज का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। यह किसानों के लिए बहुत बड़ी सुविधा है।
प्रभारी मंत्री श्री आर्य ने कहा कि प्रदेश में किसानों के लिए सरकार ने बहुत अच्छा वातावरण निर्मित किया है। इसी का परिणाम है कि आज हम सबको कृषि उत्पादन में अच्छी स्थिति दिखाई दे रही है। मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजनान्तर्गत जिले में वर्ष 2017-18 में 22 हजार 794 कृषकों द्वारा 17 लाख 98 हजार 482 क्विंटल गेहूॅ उपार्जित किया गया है। इस योजना के अन्तर्गत 265 रूपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशी  के मान से कुल 47 करोड़ 65 लाख 97 हजार 722 रूपये का किसानों के खाते में राशी  जमा की गई है। इन किसानों को प्रभारी मंत्री श्री आर्य ने इस सम्मेलन में प्रमाण पत्र वितरित किए है। श्री आर्य ने मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के अंतर्गत गेहूॅं की प्रोत्साहन राषि जमा होने वाले किसानों को सम्मानित किया। सम्मेलन में किसानों तथा अतिथियों ने मध्यप्रदेश को आगे बढ़ाने के लिए संकल्प लिया। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कलेक्टर  दीपक सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के कल्याण के लिए अनेक योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। किसान जागरूक होकर इन योजनाओं का लाभ उठाए।
कलेक्टर  ने कहा कि समर्थन मूल्य पर गेहूॅं व अन्य फसलों के उपार्जन के लिए जिले में 83 खरीदी केन्द्र स्थापित किए गए थे। जिसके तहत गेंहू , चना, मसूर, सरसो, लहसून, प्याज का उपार्जन किया गया है। देश में मध्यप्रदेश एक ऐसा राज्य है, जहाॅं पर किसानों को उनकी उपज की प्रोत्साहन राषि प्रदाय की जा रही है। श्री सिंह ने किसानों से कहा कि वे मुख्यमंत्री भावांतर योजना के अंतर्गत अपने बोए गए क्षेत्र का पंजीयन करावे।
राजस्व विभाग द्वारा इसका सत्यापन किया जावेगा और वे अपनी उपज बिक्री के लिए खरीदी केन्द्र पर लावे। किसान शासन  द्वारा उनके कल्याण के लिए क्रियान्वित की जा रही योजनाओं का भरपूर लाभ ले। कार्यक्रम के प्रारंभ में उप संचालक कृषि  आर.एल. जामरे ने कार्यक्रम की रूपरेखा पर विस्तार से प्रकाष डाला। प्रभारी मंत्री श्री आर्य सहित अन्य अतिथियों ने कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित प्रदर्षनी का अवलोकन किया।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष  मालती-मोहन पटेल, भाजपा जिलाध्यक्ष डा. राज बर्फा, विधायक धार  नीना-विक्रम वर्मा, विधायक मनावर  रंजना बघेल, विधायक सरदारपुर  वेलसिंह भूरिया, विधायक धरमपुरी  कालुसिंह ठाकुर, पुलिस अधीक्षक  बीरेन्द्र कुमार सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  आर.के. चौधरी , जिला पंचायत उपाध्यक्ष  कल्याणसिंह पटेल, अध्यक्ष कृषि स्थायी समिति जिला पंचायत विष्णु मालाधारी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष  राजीव यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि, पत्रकार, बड़ी संख्या में किसान व ग्रामीणजन उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती अरूण बोडा ने किया। मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के तहत जबलपुर में आयोजित सम्मेलन का सीधा प्रसारण किया गया। इस प्रसारण का इस सम्मेलन में उपस्थित किसानों ने देखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *